Digital Banking Kya hai in Hindi | घर बैठे करें बैंक से लेन देन अकाउंट से

Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से

दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं की डिजिटल बैंकिंग के बारे में। इसे हम कैसे इस्तेमाल करेंगे। यह हमारे लिए क्यों जरूरी है। दोस्तों जैसा की आप जानते हैं की बदलते ज़माने के साथ साथ हर चीज़ नया नया रूप ले लेती हैं। पहले लोग बैंक में लाइन लगाकर अपना लेन देन व अन्य कार्य करते थे। लेकिन आज घर बैठे ही आधुनिक तकनिकी द्वारा उनका लगभग 90% काम हो जाता हैं। इससे ऊर्जा और समय की बचत होती हैं। आज भी हमारे देश में काफी लोग इन चीज़ से अनजान हैं। और वह उन साधनो का प्रयोग नहीं करते हैं। जिससे उनको छोटे से छोटे काम के लिए भी घंटो लाइन में लगना पड़ता हैं। इससे उनका समय और ऊर्जा बेकार जाती हैं। वह ज्वाइन तो करना चाहते हैं। लेकिन उनके मन में कई तरह का सवाल आता है की कहीं बैंक हैक हो गया तो? अकाउंट से पैसे गायब हो गए तो? अगर मोबाइल चोरी हो गया तो? तो दोस्तों आज हम Digital Banking Kya hai पर बात करेंगे और ( digital banking in hindi ) आपके मन में आये सभी सवालों का जवाब देंगे। तो चलिए शुरू करते हैं। अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से.

 

Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से
Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से


नमस्कार दोस्तों मैं हु Suraj Pandey आप देख रहें हैं. My Solution Hindi आज का हमारा टॉपिक है Digital Banking Kya hai, उनका प्रयोग, और उनकी सुरक्षा व्यस्था। तो चलिए शुरू करते हैं। 

दोस्तों आज कल आधा इंडिया कैशलेस हो चूका हैं। कैशलेस का मतलब हम कही भी किसी भी दुकान , शॉपिंग मॉल , होटल , आदि जगह पर पैसे का भुगतान करते समय कैश पैसा न देकर डिजिटल पेमेंट अर्थात (G-pay , PhonePay , Bhim , Credit ,Debit Card) आदि का प्रयोग करते हैं। लगभग इंडिया के हर छोटे बड़े शहरों में इसका प्रयोग होने लगा हैं। हर छोटे बड़े दुकानदार के पास पेमेंट Qr कोड लगा रहता हैं। लेकिन आज भी कुछ लोग इसका प्रयोग नहीं करते हैं। उनके मन में अलग अलग तरह के सवाल और दर रहता हैं।  तो आज हम इसी पर बात करके  सवालों का समाधान करके आपको इसके प्रयोग का तरीका बताएँगे। तो चलिए शुरू करते हैं।

प्रश्न – क्या है डिजिटल बैंकिंग? Digital Banking Kya hai

दोस्तों आजकल पहले लोग पैसे का लेनदेन करने के लिए बैंक में जाते थे। लेकिन आजकल 90% काम घर बैठे Internet Banking , और Debit Credit Card की मदत से घर बैठे कर सकते हैं। सिर्फ यही नहीं आज कल दुकान ,होटल ,लॉज ,शॉपिंग मॉल ,आदि में Qr कोड की मदद से कैशलेस भुगतान (G-pay , PhonePay , Bhim , Credit ,Debit Card) की सहयता से ऑनलाइन हो जाता हैं। सिर्फ यही नहीं किसी भी राज्य व् किसी भी देश विदेश से घर बैठे ऑनलाइन पेमेंट प्राप्त कर सकते हैं।

प्रश्न – डिजिटल बैंकिंग के क्या क्या फायदे हैं?

दोस्तों आइये अब जानते है कि डिजिटल बैंकिंग के प्रयोग के क्या क्या फायदे हैं. दोस्तों डिजिटल बैंकिंग के से तरह तरह के फायदे होते है जो निचे दिए लाइन से गए हैं।

1. आप घर बैठे ऑनलाइन राज्य या अन्य देश विदेश से डिजिटल भुगतान प्राप्त कर सकते है। 
2. कही भी किसी भी दुकान , शॉपिंग मॉल , होटल , आदि जगह पर अपने मोबाइल फ़ोन से ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हैं 
3. घर बैठे अकाउंट का बैलेंस चेक कर सकते हैं। 
4. यदि आप कोई दुकानदार हैं तो आप अपने Qr कोड से ग्राहक के द्वारा पेमेंट प्राप्त कर सकते हैं। 
5. आप Internet Banking की मदद से अपने लिए Cheque Book और ATM Card अप्लाई कर सकते हैं। आपको बैंक नहीं जाना पड़ेगा। 

प्रश्न –क्या इनका प्रयोग पूरी तरह सुरक्षित है? क्या इन्हे हैक किया जा सकता हैं?

दोस्तों यह एक बहुत महत्वपूर्ण सवाल है जो कि हर किसी के मन में होता हैं। की क्या इनका प्रयोग पूरी तरह सुरक्षित है? क्या इन्हे हैक भी किया जा सकता हैं? तो दोस्तों इसका जवाब है की हाँ इसका प्रयोग पूरी तरह सुरक्षित है। और डिजिटल बैंकिंग सिस्टम को हैक कर पाना नामुमकिन हैं। डिजिटल पेमेंट का सिक्योरिटी सिस्टम 4 लेयरनेस होता हैं। जिसको हैक कर पाना नामुमकिन होता हैं। हाँ यदि हम इसके प्रयोग में लापरवाही करें तो हमारे पैसे को नुकसान पहुंच सकता है। हमें हमारे डिजिटल अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए हमें कुछ इमपोर्टेन्ट टॉपिक पर ध्यान देना बहुत जरुरी होता हैं। डिजिटल बैंकिंग से जुड़ने से पहले निचे दिए गए कुछ इंस्ट्रक्शंस को ध्यान से पढ़ लीजिये।

1. कभी भी अपने डेबिट कार्ड नंबर, एक्सपाइरी डेट ,CVV कोड तथा इंटरनेट बैंकिंग से जुडी यूजर आईडी और पासवर्ड किसी के साथ भी शेयर न करें। 
2. बैंक किसी व्यक्ति को कॉल करके कभी भी कोई कॉल करके उनसे उनके अकाउंट से जुडी कोई जानकारी नहीं पूछता हैं। अतः अगर आपको कभी कोइ कॉल आये और कॉल करने वाला आपसे आपके अकाउंट से जुडी जानकारी जैसे (डेबिट कार्ड नंबर, एक्सपाइरी डेट ,CVV कोड तथा इंटरनेट बैंकिंग से जुडी यूजर आईडी पासवर्ड और OTP ) पूछता हैं। तो आप कुछ न बताये बल्कि अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाएं। 

प्रश्न – डिजिटल बैंकिंग से कैसे जुड़े?

दोस्तों डॉउट क्लियर होने के बाद अब हम जानेंगे की आप डिजिटल बैंकिंग से कैसे जुड़ सकते हैं। तो चलिए शुरू करते हैं।

दोस्तों सबसे पहले आप अपने अपने फ़ोन में (Google Pay , PhonePay , Bhim ) आदि में से कोई भी एक एप्लीकेशन डाउनलोड कर लीजिये यह एप्लीकेशन आपको प्ले स्टोर में आसानी से मिल जायेंगे।

1.Download Now Bhim App
2.Download Now Google Pay App
3.Download Now PhonePe App

Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से
Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से

इनस्टॉल करने के बाद आप वो एप्लीकेशन ओपन करके उसमें रजिस्ट्रेशन कर लीजिये। अब उसमे आपको अपना बैंक ऐड करना है ( यह सिर्फ एक बार करना होता हैं ) तो अब आप Add Your Bank पर क्लिक कर दीजिये अब अगले पेज पर बहुत सारे बैंक के नाम आ जायेंगे उनमे से आप अपना बैंक सेलेक्ट कर लीजिये।

 

Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से
Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से

अब बैंक सेलेक्ट कर लेने के बाद आपसे अपना मोबाइल नंबर वेरीफाई करने को बोला जायेगा। (Note – डिजिटल बैंकिंग से जुड़ने के लिए आपका मोबाइल नंबर आपके बैंक आकउंट से लिंक होना आवश्यक है। अगर लिंक नहीं है तो आप आपने बैंक ब्रांच से संपर्क करें। और ब्रांच जाकर अपना मोबाइल नंबर अकाउंट से लिंक करवा लें )

 

 

अब आपको Continue पर क्लिक करना हैं और यदि आपके फ़ोन में Dual Sim है तो आपको वह नंबर सेलेक्ट करना हैं। जो आपके अकाउंट में रजिस्टर्ड है। (नोट – जो नंबर आपके बैंक अकाउंट में रजिस्टर्ड है वह आपके उस मोबाइल में Insurt रहना जरुरी है जिसमे आप डिजिटल बैंकिंग एप्लीकेशन ओपन करना चाहता हैं।) अब आपके फ़ोन में Auto Messege जायेगा और Automatic आपका फ़ोन और नंबर Verified हो जायेगा।

अब आपको अपने एटीएम (Debit Card ) के लास्ट 6 नंबर / एक्सपाइरी डेट / CVV एंटर करिये और सबमिट कर दीजिये ( उदाहरण के लिए नीचे इमेज का अवलोकन करें )

 

Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से
Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से

अब अगले पेज पर आपको दो ऑप्शन मिलेंगे जिसमे आपको आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजी गयी OTP डालना हैं। और दूसरे ऑप्शन में आपको ट्रांसक्शन Pin कोड डालना है (जो आप प्रत्येक लेन देन के लिए प्रयोग करना चाहते है और जिसे याद रख सके।) अब आपका डिजिटल बैंकिंग अकाउंट सफलतापूर्वक सेटअप हो चुका हैं। अब आप ट्रांसक्शन कर सकते हैं अपना अकाउंट बैलेंस देख सकते है। व अन्य फंक्शन का फायदा ले सकते हैं।

 

Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से
Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से

तो दोस्तों आशा करता हूँ आपको बेहतर जानकारी मिली होगी। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा इसके बारे में कमैंट्स जरूर करें यदि आपको कोई समस्या है तो कमैंट्स में बताये। मुझे मेल करें मैं आपको जल्द से जल्द रिप्लाई देने की कोशिश करूँगा। यदि आपको किसी और टॉपिक पर आर्टिकल या वीडियो चाहिए तो मुझे बताये। मैं आपके के लिये वीडियो/आर्टिकल बनाने की पुरी कोशिश करेंगे। digital banking kya hai                                                         धन्यवाद।

34 thoughts on “Digital Banking Kya hai in Hindi | अब घर बैठे करें बैंक से लेन देन डायरेक्ट अपने अकाउंट से”

  1. It’s a pity you don’t have a donate button! I’d most certainly donate to this outstanding blog!
    I guess for now i’ll settle for bookmarking and adding your RSS feed to my Google account.
    I look forward to brand new updates and will share this website with
    my Facebook group. Chat soon!

Leave a Comment